सांप – हिंदी लघु कथा

काफी साल से हिंदी में व्यंग लिखने का मन था। आखिर एक ऐसा विषय दिमाग में आया जिसे लेकर मुझे काफी उत्सुकता है|

जिसने भी भारतीय रेल में सफर किया है, वह जानता है की टिकट बुक कराने में देरी हो गयी, तो सीट कन्फर्म कराने में क्या क्या पापड़ बेलने पड़ते हैं| मेरी मानें, तो लोगों की रचनात्मक क्षमता जांचने के लिए यह एक अच्छी परीक्षा होगी|

‘सांप’ ऐसे ही एक रेल सफर पे आधारित लघु कथा है| ज़रूर सुनिए –

सांप

अगर आपको कहानी पसंद आयी, तो अपना e-mail address ज़रूर नीचे लिखिए –

[mc4wp_form id=”1267″]


यहां मैं अपनी कहानिया, और उन्हें लिखने की प्रेरणा के बारे में लिखता हूँ| अगर आप और कहानियां सुन्ना पसंद करेंगे, तो नीचे कमेंट करके बताइये|

10 thoughts on “सांप – हिंदी लघु कथा

  1. Dear Hemant, really nice story told by you.
    Are there other stories also? why not to get the same printed in the form of book?
    Try and inform
    Avinash Thite

    Like

    1. Thank you, Kaka. Yes, there are others as well. On this website itself, there are 15 others. I am working on a short story collection right now which would be released in the form of a book.

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s